कुछ वक़्त पहले मै रायपुर से भोपाल आ रही थी तो ट्रेन में साथ की सीट पर बैठे लोग अपने अपने फ़ोन या लैपटॉप पे व्यस्त थे। में भी कुछ पढ़ने में व्यस्त थी क्योकि पेपर नज़दीक थे। सफर के कुछ पांच से छह घंटे ऐसे ही बीते। तभी अचानक एक […]

सुवर्ण कानन में फलित प्राणों की स्वप्न मंजरी #डॉ सीमा भट्टाचार्य बिलासपुर (छत्तीसगढ़) #परिचय- दिल्ली पब्लिक स्कूल बिलासपुर छत्तीसगढ़ में संस्कृत विभाग में अध्यक्षा पोस्ट में कार्यरत। Post Views: 48

मखमली घास पर मखमली जूते पहने, सिर पर हरे -भरे पत्र- छत्र छाँह लिए, आकाश की तिलस्मी दुनिया की ओर दृष्टि गढ़ाए हमारा कर्णधार अपनी ही धुन, अपने ही सुख में लीन,बेपरवाह बढ़ता चला जा रहा है….।जहाँ है सपनों की रुपहली,चकाचौंध से भरी दुनिया…।एक उड़ान..सपनों को पाने की चाहत। सपनों […]

कोरोन ने वैश्विक रूप से आघात पहुंचाने का काम किया है, कही लाशों के ढेर तो कही अपनों के बिछड़ने का क्रम अनवरत जारी रखा, दम तोड़ती व्यवस्थाएँ और शासकीय तंत्र की बदहाली को भी हमने अपनी आँखों से देखा और महसूस किया। ऐसे हालातों के बीच अभिभावकों ने तो […]

राजीव गांधी युवा भारत व संचार क्रांति के जनक भारत रत्न पूर्व परधान मंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी राजीव गांधी का जन्म 20 अगस्त 1944 को मुंबई में हुआ और उनका निधन 21 मई 1991 को चुनाव प्रचार के दौरान हुआ I राजीव गांधी का पूरा नाम राजीव रत्न गांधी था […]

अयोध्या । भगवान राम की जन्मभूमि अयोध्या संसदीय क्षेत्र से सम्पूर्ण सेवा प्रक्रम का संचालन करने वाले सांसद लल्लू सिंह जी व प्रधानमंत्री जनकल्याणकारी योजना के राष्ट्रीय महामंत्री महंत राजू दास जी को ‘मातृभाषा उन्नयन संस्थान’ द्वारा ‘राष्ट्र दीप सम्मान’ से सम्मानित किया गया। यह सम्मान ख़बर हलचल न्यूज़ के […]

संस्थापक एवं सम्पादक

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’

29 अप्रैल, 1989 को मध्य प्रदेश के सेंधवा में पिता श्री सुरेश जैन व माता श्रीमती शोभा जैन के घर अर्पण का जन्म हुआ। उनकी एक छोटी बहन नेहल हैं। अर्पण जैन मध्यप्रदेश के धार जिले की तहसील कुक्षी में पले-बढ़े। आरंभिक शिक्षा कुक्षी के वर्धमान जैन हाईस्कूल और शा. बा. उ. मा. विद्यालय कुक्षी में हासिल की, तथा इंदौर में जाकर राजीव गाँधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के अंतर्गत एसएटीएम महाविद्यालय से संगणक विज्ञान (कम्प्यूटर साइंस) में बेचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग (बीई-कंप्यूटर साइंस) में स्नातक की पढ़ाई के साथ ही 11 जनवरी, 2010 को ‘सेन्स टेक्नोलॉजीस की शुरुआत की। अर्पण ने फ़ॉरेन ट्रेड में एमबीए किया तथा एम.जे. की पढ़ाई भी की। उसके बाद ‘भारतीय पत्रकारिता और वैश्विक चुनौतियाँ’ विषय पर अपना शोध कार्य करके पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने सॉफ़्टवेयर के व्यापार के साथ ही ख़बर हलचल वेब मीडिया की स्थापना की। वर्ष 2015 में शिखा जैन जी से उनका विवाह हुआ। वे मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं और हिन्दी ग्राम के संस्थापक भी हैं। डॉ. अर्पण जैन ने 11 लाख से अधिक लोगों के हस्ताक्षर हिन्दी में परिवर्तित करवाए, जिसके कारण वर्ल्ड बुक ऑफ़ रिकॉर्डस, लन्दन द्वारा विश्व कीर्तिमान प्रदान किया गया।