वैचारिक महाकुंभ

हिन्दी प्रचार में साथ आए पुणे के अभियन्ता, जय हिन्दी एप प्रमोचित

  इंदौर | हिन्दी भाषा की शुद्धता और मानक हिन्दी को प्रचारित करने के लिए समर्पित योद्धा, मातृभाषा उन्नयन संस्थान के प्रदेश अध्यक्ष व जबलपुर निवासी उप सेनानी कमलेश कमल द्वारा जारी अभियान 'कमल की कलम' को पुणे के अभियंता द्वय ...

Read More

नागिन डान्स  

'महराज मेरा व्यापार में बड़ा नुकसान हो रहा है क्या करें।' 'बेटा, कोई बात नहीं ईश्वर पर भरोसा रखो।भजन में मन लगाओ। दान पुण्य करो ।सब सही हो जायेगा ।बस धैर्य से काम लो।' 'महराज मेरी बेटी की शादी नहीं हो पा ...

Read More

धड़क प्यार भरी भडकन

धड़क:- *प्यार भरी धड़कन* इदरीस खत्री द्वारा निर्देशक :- शशांक खैतान संगीत :- अतुल-अजय कास्ट:- इशांत खट्टर, जहान्वी कपूर, आशुतोष राणा, खरज मुखर्जी, विश्वनाथ चटर्जी अवधि :- 137 मिनट मूल परिकल्पना मराठी फिल्म सैराट का रीमेक है फ़िल्म सैराट मराठी सिनेमा की केवल एक फ़िल्म नही वृतांत ...

Read More

कैसे बने बालक कुलदीपक ?

बालक को गृहदीपक या कुलदीपक बनाना हो तो उसकी इच्छानुसार चलने नहीं देना। दीपक अर्थात् प्रकाश करने वाला, किन्तु जलाने वाला नहीं। कुलदीपक अर्थात् कुल को प्रकाशित करने वाला, किन्तु कुल को जलाने वाला नहीं! इसलिए बालक में सुसंस्कार डालो। अमुक धर्म-क्रिया ...

Read More

नीरज

गीतों में दर्द जो गा गये तुम रुहानी अहसास जगा गये तुम तड़प थी एक अदद प्रेम की मिटा खुद ,दुनिया सिखा गये तुम छिपे गये हो श्यामल घन बीच सबाल बन तुम अब खड़े हुये खोजूँ कहाँ वो उत्तर अब मैं अनुत्तरित बन तुम अड़े हुये। कुछ ...

Read More

आत्मा के सौंदर्य का शब्दरूप है काव्य, मानव होना भाग्य, कवि होना सौभाग्य......गोपालदास नीरज

कचहरी में टंकण करते-करते कोई हिन्दी कविताओं की तरफ मुड़कर हिन्दी माँ का लाड़ला नीरज बनकर माया नगरी बम्बई में हिन्दी कविता को सर्वोच्च सम्मान दिलवाता है, और प्रेम के तरानों के साथ शोखियों में घोलता हो प्रेम गीतों का ...

Read More

चला गया सदी का मुसाफ़िर

लेख उनकी मृत्यु से पूर्व लिखा था #राजेश बादल उस दिन दिल्ली में एक होटल के कमरे में नीरज से दो ढाई घंटे की गपशप हुई ,लेकिन जी नहीं भरा । न मुझे संतोष हुआ और न नीरज को । बोले ...

Read More

यादें.... धुआँ - धुआँ

सतपुड़ा की रानी निखर उठती है जब मेघ डेरा जमाते हैं पर्वतश्रृंखला पर। एक दो बरसात के बाद व्ही-फॉल की जवानी लौट आती है। बस सनसेट पाइंट उदास हो देखता रहता है दूर बादलों की धींगा मस्ती। लगता है गीली ...

Read More


Custom Text


Custom Text

  • लेखक दीर्घा matrubhasha
Custom Text

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है