Archives for धर्मदर्शन

Uncategorized

शिव महिमा

निराकार परम शिव है जो है सबके भगवान जो शिव का स्मरण करें मिले तीन लोक का ज्ञान आदि,मध्य,अंत के रचियता है परमात्मा जब जब पाप बढ़े धरा पर कर…
Continue Reading
Uncategorized

आचार्यश्री के प्रति मुंबई वालो की भावनाये  

विद्यासागर जी की राह निहार के। मुंबई वाले कब से खड़े है इंतजार में  / सब की अँखियों के नूर, सब के दिलो के सुरूर / चाहे रहो कितनी दूर,लाना…
Continue Reading
Uncategorized

भोले

कांवड़ लेकर चल रहे भोले कदम से कदम मिला रहे भोले चलते चलते पैरो मे है छाले कदम फिर भी नही रुकने वाले कुछ शोर शराबा बहुत कर रहे कुछ…
Continue Reading
Uncategorized

परम पूजनीया गणिनी आर्यिका विशुद्धमती माताजी के पावन चरणों में भावों की स्वर्णिम माला 

१ दैवीय है -- आपका स्वरूप २पूजनीय है---आपके चरण ३ करणीय है--आपकी पूजा ४ लेखनीय है -आपका चरित्र ५ माननीय है -आपकी मृदुता ६ मोहनीय है---आपकी ममता ७ दर्शनीय है--…
Continue Reading
Uncategorized

‘जन आशीर्वाद’ और ‘पोल खोल’ के जरिए राजपथ की तलाश

महाकाल की नगरी उज्जैन में पूजा-अर्चना कर भगवान के आशीर्वाद के साथ “नया मध्यप्रदेश नयी रफ्तार, शिवराज सिंह अबकी बार’ का लक्ष्य सामने रखकर जन आशीर्वाद यात्रा को भाजपा के…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है