Archives for संस्मरण

Uncategorized

 गीत ऋषि स्व.गोपाल दास नीरज जी का हिन्दी साहित्य में स्थान

*भारत माँ के नयन दो हिन्दू मुस्लिम जान। नहीं एक के बिना हो दूजे की पहचान*     गोपाल दास नीरज हिन्दी साहित्यकार शिक्षक एवम कवि सम्मेलनों के मंचों का…
Continue Reading
Uncategorized

प्रेम लता बहन जिन्होंने साधु महात्माओ को दिया ईश्वरीय ज्ञान

प्रजापिता ब्रह्मा बाबा की पालना लेकर ब्रह्माकुमारीज् संस्था प्रमुख प्रकाशमणि दादी व दादी जानकी के सानिदय में रही प्रेम लता बहन ईश्वरीय ज्ञान की दिव्य विभूति थी।तभी तो जो भी…
Continue Reading
Uncategorized

हावड़ा – मेदिनीपुर की लास्ट लोकल ….!!

tarkesh ojha महानगरों के मामले में गांव - कस्बों में रहने वाले लोगों के मन में कई तरह की सही - गलत धारणाएं हो सकती है। जिनमें एक धारणा यह…
Continue Reading
Uncategorized

युग निर्माता स्वामी सत्यमित्रानन्द गिरिजी

अध्यात्म-चेतना के प्रतीक, भारतमाता मन्दिर से प्रतिष्ठापक ब्रम्हानिष्ठ स्वामी सत्यमित्रानन्द गिरि जी महाराज वर्तमान युग के विवेकानन्द थे । 26 वर्ष की अल्प आयु में ही शंकराचार्य-पद पर सुशोभित हुए…
Continue Reading
Uncategorized

दुनिया के श्रेष्ठतम चिंतक और कुशल दार्शनिक संत कबीर

  भारतीय लोक परंपरा के जनकवियों में संत कबीर का नाम सबसे अग्रणी है । कबीर गृहस्थ संत थे, भक्त थे ,कवि थे जीवन चर्या के लिए जुलाहे थे । पर इन…
Continue Reading
Uncategorized

जन मन के प्रिय चितेरे :कवि मोहन सोनी

साहित्य को अपना धर्म और कविता को अपना कर्म मानने वाले कलम के सिपाही जो सतत लेखन की प्रेरणा देते रहते थे और स्वयं भी उत्साह पूर्वक साहित्य जगत में…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है