Archives for मनोरंजन

Uncategorized

प्रीत का हरश्रृंगार…

इस भीषण तपती गरमी में एक अद्भुत शीतल कल्पना हो चली,खुली आँखों ने एक प्यारा स्वप्न दिखाया,और मैं शरद ऋतु की प्रभात बेला में तुम्हारे संग सैर पर निकल चली।…
Continue Reading
Uncategorized

बचपन..

पानी में कागज की वो नाव चलाना, खेल खेलना और खिलाना.. मजे करते थे हम भरपूर, छल-कपट से थे दूर। खेल-खिलौने, हमारी मिट्टी, नाटक में चंदा मामा को लिखते थे…
Continue Reading
Uncategorized

प्यारे बच्चे….

कितना अच्छा होता बचपन, प्यारी रंग-रंगोली, सबके मन को भाती, उनकी हँसी ठिठोली | चंदन कहें बचपन को , या कहें अक्षत रोली, कितनी प्यारी लगती , तुतलाती मीठी बोली…
Continue Reading
Uncategorized

समय की रेत, घटनाओं के हवा महल …!!

समय की रेत, घटनाओं के हवा महल ...!! तारकेश कुमार ओझा यह लेख स्वतंत्र लेखन श्रेणी का लेख है। इस लेख में प्रयुक्त सामग्री, जैसे कि तथ्य, आँकड़े, विचार, चित्र…
Continue Reading
Uncategorized

वाकई ! इस चमत्कार को नमस्कार है !!

वाकई ! इस चमत्कार को नमस्कार है !!   तारकेश कुमार ओझा  यह लेख स्वतंत्र लेखन श्रेणी का लेख है। इस लेख में प्रयुक्त सामग्री, जैसे कि तथ्य, आँकड़े, विचार, चित्र आदि…
Continue Reading
मनोरंजन

‘न फनकार तुझसा तेरे बाद आया, मोहम्मद रफी तू बहुत याद आया’

  यह लेख स्वतंत्र लेखन श्रेणी का लेख है। इस लेख में प्रयुक्त सामग्री, जैसे कि तथ्य, आँकड़े, विचार, चित्र आदि का, संपूर्ण उत्तरदायित्व इस लेख के लेखक/लेखकों का है,…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है