Archives for पुस्तक समीक्षा

Uncategorized

रोचक और ज्ञानवर्धक कृति- पेड़ लगाओ

  कविता लिखना जितना आसान समझा जाता है उतना होता नहीं है। कवि को तात्कालिक परिस्थितियों का गहन अध्ययन करना पड़ता है, उन स्थितियों से जुझना पड़ता है। तब जाकर…
Continue Reading
Uncategorized

परिंदों को मिलेगी मंज़िल यक़ीनन

 समीक्षा: परिंदे पत्रिका "लघुकथा विशेषांक" पत्रिका : परिंदे (लघुकथा केन्द्रित अंक) फरवरी-मार्च'19 अतिथि सम्पादक : कृष्ण मनु संपादक : डॉ. शिवदान सिंह भदौरिया 79-ए, दिलशाद गार्डन, नियर पोस्ट ऑफिस, दिल्ली-…
Continue Reading
Uncategorized

गहराई से जीवन के रंगों से परिचय करवाती कृति – सात रंग जिंदगी के

कविता सदा से ही मनुष्य के अंत:करण में उठे भावों को स्वर देने का एक सशक्त माध्यम रही है । समय के साथ कविता के विषय, शिल्प एवं भाषा में…
Continue Reading
Uncategorized

“शतदल” (मुक्तक काव्य-संग्रह)

सुधी साहित्यकार डॉ0 मृदुला शुक्ला "मृदु" की काव्य-कृति शतदल का मैंने गहन अवलोकन किया। इस कृति में 100 स्फुट रचनाएँ हैं। अर्थात मुक्तक कवितारूपी 100 पंखुड़ियाँ हैं, जो भक्ति-भावना,प्रेम-भावना,राष्ट्र-प्रेम एवं…
Continue Reading
Uncategorized

उम्मीदों की छाँव में (मुक्तक काव्य-संग्रह)

कविता लिखी नहीं जाती, कविता स्वत: जन्म लेती है। वास्तव में मन के उद्गार ही कविता है। कवि यथार्थ के धरातल पर बैठा हुआ कल्पना लोक में स्वच्छन्दता पूर्वक विचरण…
Continue Reading
Uncategorized

रोचक और चिंतनशील कृति- साथ नहीं देती परछाई

"साथ नहीं देती परछाई" इंदौर के प्रसिद्ध आशुकवि प्रदीप नवीन का पहला ग़ज़ल संग्रह है। उनकी पूर्व में गीत, काव्य और व्यंग्य पर कृतियां प्रकाशित हो चुकी है। पाँच दशक…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है