अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर योगशाला साहित्य संगम संस्थान में भव्य प्रतियोगिता होगी

0 0
Read Time4 Minute, 22 Second

साहित्य संगम संस्थान के योगशाला मंच के माध्यम से अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2021 को प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है जिसमें विभिन्न प्रांतों के प्रतिभागी इस प्रतियोगिता में सम्मिलित होंगे, ज्ञातव्य हो कि योग दिवस पर यह आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभागी शुरूआती उद्बोधन में योगशाला साहित्य संगम संस्थान को नमन करते हुए योग अथवा प्राणायाम की एक से डेढ़ मिनट की वीडियो तैयार कर मुख्य मंच योगशाला मंच पर प्रेषित किया जाना है, ज्ञातव्य हो कि इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राजवीर सिंह मंत्र, विशिष्ट अतिथि डॉ मीना भट्ट सेवानिवृत्त न्यायाधीशा,छाया सक्सेना प्रभु कोषाध्यक्ष जबलपुर,जूली अग्रवाल योगगुरु, धर्मराज देशराज वरिष्ठ साहित्यकार सिहोर जबलपुर, कार्यक्रम के अध्यक्ष महासचिव कविराज तरुण लखनऊ, कार्यक्रम के शुभारंभ में मां वीणापाणि की मूर्ति स्थापना नवीन कुमार भट्ट संपादक योगसंगम रविवारीय,लता सगुण खरे बिलासपुर छत्तीसगढ़ व्याकरण अधीक्षिका, के करकमलों से दीप प्रज्वलन किया जायेगा, हरीश बिष्ट के द्वारा सरस्वती माता को माल्यार्पण करेंगे, इंदू शर्मा शचि तिनसुकिया असम योगशाला अधीक्षिका के द्वारा सरस्वती वंदना, बिलासपुर छत्तीसगढ़ गीत शाला की संचालिका सरोज सिंह ठाकुर के द्वारा स्वागत गीत के माध्यम से मंचस्थ उपस्थित पदाधिकारियों का स्वागत करेंगी।भवानी मंडी राजस्थान के राजेश कुमार शर्मा पुरोहित राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी , दिल्ली के युवा वरिष्ठ गजलकार कुमार रोहित रोज सह अध्यक्ष साहित्य संगम संस्थान के द्वारा कार्यक्रम की समाप्ति का आभार व्यक्त किया जायेगा,कार्यक्रम का शुभारंभ 21/06/2021 को दोप 12 बजे से शाम 07 बजे तक किया जाना है जिसमें विशिष्ट अतिथियों के उद्बोधन उपरांत तीन से छ: बजे के बीच सभी प्रतिभागियों के द्वारा अपनी स्वयं वीडियो पटल पर प्रस्तुत करना है निर्धारित समय सीमा के बीच में आई हुई वीडियो चयन सूची में सम्मिलित होगी जबकि इससे इत्तर आई वीडियो प्रतियोगिता से बाहर होगी।चयन समिति के द्वारा चयन उपरांत प्रथम, द्वितीय, तृतीय प्रतिभागियों को विशेष सम्मान व सम्मिलित प्रतिभागियों को सहभागिता सम्मान पत्र से सम्मानित किया जायेगा। संस्थान के ऐसे आयोजनों में सम्मिलित होने का मुझे सौभाग्य प्राप्त हुआ योगशाला मंच का सादर आभार।। निश्चित ही आयोजित होने वाला यह कार्यक्रम नवागत प्रतिभावों की प्रतिभा को निखारेगा। योगशाला मंच की ओर से इंदू शर्मा शचि,जूली अग्रवाल, धर्मराज देशराज,नवीन कुमार भट्ट नीर ने इस प्रतियोगिता में सम्मिलित होने के लिए अभिवादन कर योग दिवस के कार्यक्रम को सफल बनाने की कामना की है,आप सबकी सहभागिता ही इस कार्यक्रम को सफलता प्रदान करेगी।

matruadmin

Next Post

कोरोना काल में 82 नवाचार एक अद्भुत रचनात्मक कार्य

Fri Jun 18 , 2021
म. प्र. आगर मालवा जिले के उत्कृष्ट उ.मा. विद्यालय आगर मालवा के राज्यपाल पुरुस्कार प्राप्त शिक्षक डॉ. दशरथ मसानिया ने  कोरोना त्रासदी के विगत 15 महीनों में शिक्षा और साहित्य के क्षेत्र में सराहनीय सृजनात्मक कार्य किया है।   जहां लोग कोरोना काल में भययुक्त वातावरण में जी रहे थे वहीं […]

पसंदीदा साहित्य

संस्थापक एवं सम्पादक

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’

29 अप्रैल, 1989 को मध्य प्रदेश के सेंधवा में पिता श्री सुरेश जैन व माता श्रीमती शोभा जैन के घर अर्पण का जन्म हुआ। उनकी एक छोटी बहन नेहल हैं। अर्पण जैन मध्यप्रदेश के धार जिले की तहसील कुक्षी में पले-बढ़े। आरंभिक शिक्षा कुक्षी के वर्धमान जैन हाईस्कूल और शा. बा. उ. मा. विद्यालय कुक्षी में हासिल की, तथा इंदौर में जाकर राजीव गाँधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के अंतर्गत एसएटीएम महाविद्यालय से संगणक विज्ञान (कम्प्यूटर साइंस) में बेचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग (बीई-कंप्यूटर साइंस) में स्नातक की पढ़ाई के साथ ही 11 जनवरी, 2010 को ‘सेन्स टेक्नोलॉजीस की शुरुआत की। अर्पण ने फ़ॉरेन ट्रेड में एमबीए किया तथा एम.जे. की पढ़ाई भी की। उसके बाद ‘भारतीय पत्रकारिता और वैश्विक चुनौतियाँ’ विषय पर अपना शोध कार्य करके पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने सॉफ़्टवेयर के व्यापार के साथ ही ख़बर हलचल वेब मीडिया की स्थापना की। वर्ष 2015 में शिखा जैन जी से उनका विवाह हुआ। वे मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं और हिन्दी ग्राम के संस्थापक भी हैं। डॉ. अर्पण जैन ने 11 लाख से अधिक लोगों के हस्ताक्षर हिन्दी में परिवर्तित करवाए, जिसके कारण वर्ल्ड बुक ऑफ़ रिकॉर्डस, लन्दन द्वारा विश्व कीर्तिमान प्रदान किया गया।