Tag archives for ajay

Uncategorized

अरमान था बहारों का

दिल में अरमान था  बहारों का और तोहफा मिला है खारों का । तेरे बगैर बता मै अब क्या करूँ इन बेजान दिलकश नजारों का । रौशनी जब   मुझे खलने…
Continue Reading
Uncategorized

भ्रूणविज्ञान

भ्रूणविज्ञान : श्री मदभागवतम् {Embryology in Bhagwatam} भ्रूणविज्ञान (Embryology) का अर्थ है अपने अपरिपक्व अवस्था में गर्भ में मानव जीव का अध्ययन । यह आमतौर पर कहा जाता है कि…
Continue Reading
Uncategorized

क्या धुलेंगे पाप शाही स्नान से

धुलेंगे पाप क्या  शाही   स्नान से ? बात करते हो बिलकुल नादान से । मोह,माया ,छल ,कपट,लोभ,हिंसा छूट पायेगा क्या आज  इन्सान से । बचाना होगा खुद से  ही खुद…
Continue Reading
Uncategorized

धरना है

धरना है भाई धरना है, धरने में भी धरना है धरना धरने की खातिर है, धरना, धरना धरना है। चाहे भवन विधान घेराव करें, या भरी दुपहरी बदन जरे मंत्री…
Continue Reading
Uncategorized

वो बैठे फेसबुक खोले

नभ चाहें धरती डोले, वो बैठें फेसबुक खोले उंगली करें होले होले,वो बैठें फेसबुक खोले! दुनिया भर के दोस्त बना दे, ये इण्टरनेट साइट, गीदड़ भी है यहाँ गरजते होकर…
Continue Reading
Uncategorized

इन्सान ही बनना

सबका ही सम्मान तू करना , नहीं कभी अपमान तू करना हिंदू मुस्लिम बाद में बनना , पहले तू इन्सान ही बनना । तकलीफ़े न देना किसी को, कभी किसी…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है