करवा चौथ मनाऊंगा , मैं गीत प्यार के गाऊंगा । मैं भी तो अपनी सजनी के , खूब लाड़ लडॉऊंगा ।। करवा चौथ मनाऊंगा …… जब जब उसको देखता हुँ , मन खुश हो जाता मेरा , जब जब उसके पास जाऊ , तो दिल बहल जाता मेरा , उसके […]

विश्व पर्यावरण दिवस पर आओ वन और जीव को बचाने का संकल्प लें । मैं संकल्प लेता हूँ कि अपना जन्मदिन वृक्षारोपण करके मनाऊँगा और उनकी रक्षा करूँगा । और कभी जीव-जंतु को प्रताड़ित नहीं करूँगा ।।।। मुझको लगते है प्यारे , वन्यजीव देखो हमारे । अब इनको बचाना है […]

आजकल चारों ओर शादियों का माहौल चल रहा है । बहुत सारे ऐसे प्रेमी युगल होते है जो एक दूसरे से प्यार तो बेपनाह करते है , पर शादी के पवित्र बंधन में नहीं बंध पाते है  । ऐसे ही एक लड़की की शादी किसी दूसरे लड़के से हो जाती […]

किसी की नहीं सुनता मैं ये , आज कह रहा । मैं दिल से देता हूँ वोट , पैसों से नहीं , मेरा वोट है मेरा हक , शान से कह रहा ।। ये चुनावी हथकंडे है , ये तो रोज आएंगे , ये हाथो को जोड़ कर , हमारे […]

अपनी अपनी मोह्हबत में , प्रेम के गीत गाते । आजकल के प्रेम दीवाने ,वेलेंटाइन डे मनाते ।। होली और दीवाली के जैसे, प्रेम त्यौहार मनाते । लाखों प्रेम के पुजारी, सब अपना प्यार दिखाते ।। तरह-तरह के दिन मना , एक दूजे को बहलाते । अपने सनम को गुलाब […]

मृत्यु भोज खाना , बंद करो सब , एक बात मेरी , आप लोग  मानलो । अरे ! मृत्युभोज एक अभिशाप है दोस्तो , आज से ही बंद करो , दिल से ठानलो ।। मृत्यु भोज एक …………. अरे ! मौत होना  , खुशी की बात नहीं , जो तुम […]

Founder and CEO

Dr. Arpan Jain

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ इन्दौर (म.प्र.) से खबर हलचल न्यूज के सम्पादक हैं, और पत्रकार होने के साथ-साथ शायर और स्तंभकार भी हैं। श्री जैन ने आंचलिक पत्रकारों पर ‘मेरे आंचलिक पत्रकार’ एवं साझा काव्य संग्रह ‘मातृभाषा एक युगमंच’ आदि पुस्तक भी लिखी है। अविचल ने अपनी कविताओं के माध्यम से समाज में स्त्री की पीड़ा, परिवेश का साहस और व्यवस्थाओं के खिलाफ तंज़ को बखूबी उकेरा है। इन्होंने आलेखों में ज़्यादातर पत्रकारिता का आधार आंचलिक पत्रकारिता को ही ज़्यादा लिखा है। यह मध्यप्रदेश के धार जिले की कुक्षी तहसील में पले-बढ़े और इंदौर को अपना कर्म क्षेत्र बनाया है। बेचलर ऑफ इंजीनियरिंग (कम्प्यूटर साइंस) करने के बाद एमबीए और एम.जे.की डिग्री हासिल की एवं ‘भारतीय पत्रकारिता और वैश्विक चुनौतियों’ पर शोध किया है। कई पत्रकार संगठनों में राष्ट्रीय स्तर की ज़िम्मेदारियों से नवाज़े जा चुके अर्पण जैन ‘अविचल’ भारत के २१ राज्यों में अपनी टीम का संचालन कर रहे हैं। पत्रकारों के लिए बनाया गया भारत का पहला सोशल नेटवर्क और पत्रकारिता का विकीपीडिया (www.IndianReporters.com) भी जैन द्वारा ही संचालित किया जा रहा है।लेखक डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं तथा देश में हिन्दी भाषा के प्रचार हेतु हस्ताक्षर बदलो अभियान, भाषा समन्वय आदि का संचालन कर रहे हैं।