Advertisements
IMG-20190424-WA0011
गोंदिया।
नगर के प्रख्यात श्री शारदा वाचनालय में २३अप्रैल को विश्वपुस्तक दिवस प्रसिद्ध कवि गीतकार एवं वाचनालय के प्रमुख ग्रंथपाल श्री शिव शर्मा की अध्यक्षता में मनाया गया। इस प्रसंग पर नगर के उपस्थित कवि श्री छगन पंचे, श्री शशि तिवारी, श्री लक्ष्मीकांत कटरे एवं श्री निखिलेशसिंह यादव ने पुष्पगुच्छ प्रदान कर श्री शिव शर्मा को वाचनालय एवं साहित्य की दीर्घ सेवा के लिए सम्मानित किया एवं विश्वपुस्तक दिवस की शुभकामनाएँ दी।
वरिष्ठ कवि शशि तिवारी ने अपना व श्रीमती कमलेश तिवारी का काव्य संग्रह ‘कलरव’, छगन पंचे ने ‘फुरसत के क्षण’ एवं ‘मंथन’, लक्ष्मीकांत कटरे ने चिकोटी व्यंग्य काव्य संग्रह वाचनालय एवं श्री शिव शर्मा को भेंट कर इस दिन को सार्थक बनाया।
श्री शर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि लेखन की सार्थकता तब ही है कि वह श्रोता और पाठक के मन को छू जाए। कविता सिर्फ़ तालियों और वाहवाही की मोहताज नहीं होती। कविता में रस उत्पन्न होना चाहिए, जिसमें श्रोता इतना मग्न हो जाए कि उसे ताली बजाने का भी ध्यान न रहे।
इस अवसर पर एक कवि गोष्ठी भी हुई, जिसमें निखिलेशसिंह यादव, लक्ष्मीकांत कटरे, छगन पंचे ‘छगन’, शशि तिवारी एवं शिव शर्मा ने गीत, ग़ज़ल, व्यंग्य, घनाक्षरी छंद सुनाए।
आभार निखिलेशसिंह यादव ने माना।
(Visited 5 times, 1 visits today)
Please follow and like us:
0
http://matrubhashaa.com/wp-content/uploads/2019/04/IMG-20190424-WA0011.jpghttp://matrubhashaa.com/wp-content/uploads/2019/04/IMG-20190424-WA0011-150x150.jpgmatruadminUncategorizedखबरेंसमाचारगोंदिया। नगर के प्रख्यात श्री शारदा वाचनालय में २३अप्रैल को विश्वपुस्तक दिवस प्रसिद्ध कवि गीतकार एवं वाचनालय के प्रमुख ग्रंथपाल श्री शिव शर्मा की अध्यक्षता में मनाया गया। इस प्रसंग पर नगर के उपस्थित कवि श्री छगन पंचे, श्री शशि तिवारी, श्री लक्ष्मीकांत कटरे एवं श्री निखिलेशसिंह यादव ने...Vaicharik mahakumbh
Custom Text