Tag archives for varma

Uncategorized

नई करेंसी का आगमन 

पिछले वर्षों ,में  पुराने 500 व  1000  की करेंसी नोट लीगल टेंडर नहीं होने के बाद  नए 500 व् 2000 के करेंसी नोट के चलन से भ्रष्टाचार  ,नकली करेंसी रोकने आदि हेतु…
Continue Reading
Uncategorized

वे रोपते धान

धान रोपने वाले मजदूरों को समर्पित पग दलदल में मन उलझन में कमर बनी कमान वे रोपते धान। रंग बिरंगी पन्नी ओढ़े आते है सब दौड़े-दौड़े बस मेहनत ही भगवान…
Continue Reading
Uncategorized

मैं नारी हूँ  

मै नारी हूँ, ये अपराध मेरा तो नहीं हाँ मै नारी हूँ ! तुम्हारी लेखनी ने संस्कृति के उत्कर्ष तक मुझे पहुंचा दिया धरती का प्राणी ही नहीं देवी भी…
Continue Reading
Uncategorized

“पाना है जो मुकाम वो अभी बाकी है”

घायल जिस्म में जान अब भी बाकी है, कहता है पाना है जो मुकाम वो अभी बाकी है। बेशक आज कमज़ोर है घायल है मगर खुदसे लड़ने को  राज़ी है,…
Continue Reading
Uncategorized

आते नहीं क्यों ?…………

विरद श्याम प्यारे निभाते नहीं क्यों ? पुकारें स्वजन किन्तु आते नहीं क्यों ?   बढ़ाते रहे  चीर  हो  द्रौपदी  की, यहाँ रोज़ ही नारियाँ लुट रही हैं। बिना लाज…
Continue Reading
Uncategorized

शिव दोहावली

शिव ने शक का सर्प ले, किया सहज विश्वास। कण्ठ सजाया,धन्यता करे सर्प आभास। द्वैत तजें,अद्वैत वर, तो रखिए विश्वास। शिव-संदेश न भूलिए, मिटे तभी संत्रास॥ नारी पर श्रद्धा रखें,…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है