Tag archives for khan

Uncategorized

आंदोलन और सरकार की नाकामी

जनतंत्र में, लोकतंत्र में जनता को ये अधिकार होता है कि वे अपनी मांगों के समर्थन में, अपने अधिकारों की रक्षा के लिए आंदोलन कर सकती है,  सरकार की ग़लत…
Continue Reading
Uncategorized

देश को मज़बूत विपक्ष चाहिए

  किसी भी देश के लिए सिर्फ़ सरकार का मज़बूत होना ही काफ़ी नहीं होता।  देश की ख़ुशहाली के लिए, उसकी तरक़्क़ी के लिए एक मज़बूत विपक्ष की भी ज़रूरत…
Continue Reading

गाँधी कुछ प्रश्न,कुछ उत्तर

कुछ लोगों का मानना है कि गांधी की हत्या गोडसे ने की,लेकिन यह जायज हत्या नहीं है। वो भी गांधी जैसे व्यक्तित्व की हत्या ? ? ? मेरा प्रश्न है…
Continue Reading

वक़्त अच्छा हो जाए

  कोई औपचारिकता नहीं, इसलिए बने बनाए शब्दों का सहारा भी नहीं...। मैं नहीं चाहता कि, बरसों के घिसे-पिटे शुभकामनाओं के शब्दों को फ़िर से थोप दूं तुम पर, जैसा…
Continue Reading

राजेश खन्ना को राजीव गांधी सियासत में लाए

(जन्मदिन 29 दिसम्बर पर विशेष) हिंदी सिनेमा के पहले महासितारा राजेश खन्ना अब हमारे बीच नहीं हैं,लेकिन अपने सशक्त अभिनय के ज़रिए उन्होंने कामयाबी की जो बुलंदियां हासिल कीं,वह हर…
Continue Reading

सामुदायिक विकास की सोच ही राष्ट्रवाद 

क्या राष्ट्रवाद की अधिकता साम्राज्यवाद, फांसीवाद में परिणित हो जाती है ? जी हाँ,राष्ट्रवाद की अधिकता का परिणाम भी साम्राज्यवाद,फांसीवाद में देखा जा सकता है। जब कोई राष्ट्र,राष्ट्र निवासी अपनी…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है