भाग एक….. इदरीस खत्री द्वरा,,, दोस्तो मार्वल सिनेमेटिक एक फ़िल्म निर्माण कम्पनी है जो अमेरिकन है जिसने सुपरहीरो को नई दिशा के साथ नई दशा भी दी है,,साथ ही विश्वस्तर पर फिल्मो ने अभूतपूर्व सफलता के साथ धन की बरसात भी की है *मुझे कई दोस्तो के फोन आए पूछा […]

रोमियो अकबर वाल्टर दिल तो नही छू पाई रॉ, फ़िल्म समीक्षक इदरीस खत्री द्वरा,,,, निर्देशक रॉबी ग्रेवाल अदाकार जान अब्राहम, मोनी रॉय, जैकी श्रॉफ, सिकन्दर खैर, बोमन ईरानी, अलका अमीन संगीत अंकित तिवारी, सोहैल सेन, शब्बीर एहमद, राज आशू पार्श्व ध्वनि हनीफ शेख, अवधि 139 मिनट दोस्तो देश मे टाइगर […]

निर्देशक चक रसैल अदाकार विद्युत जामवाल, अक्षय ओबेराय, आशा भट्ट, अतुल कुलकर्णी, मकरन्द देशपांडे, पूजा सावन्त, विश्वनाथ चैटर्जी, कहानी रितेश शाह, पटकथा एडम प्रिंस, चक रसैल संगीत समीरउद्दीन एक्शन परवेज शेख चुंग ली फिल्मांकन मार्क इरविन दोस्तो दुनिया की सबसे खूबसूरत रचना है इंसान यदि इंसान को कुदरत ने सबसे […]

दोस्तो अक्षय खिलाड़ी कुमार एक ऐसे अभिनेता और हीरो है जो कभी नम्बरो की दौड़ में शामिल नही हुवे, न ही अवर्डस कि दौड़ में, साथ ही न उन्होंने इस बात की परवाह की कि साल में कम या ज्यादा फिल्मे देना है, लेकिन अक्षय आज टिकट खिड़की पर सफलता […]

केसरी बेटल ऑफ सारागढ़ी देशभक्ति का अलख जगाती, फ़िल्म समीक्षक इदरीस खत्री द्वारा,, निर्देशक अनुराग सिंह अदाकार अक्षय कुमार, परिणिती चोपड़ा, गोविंद नामदेव, राजपाल, वंश भारद्वाज, मीर सरवर, शुरूआत फ़िल्म के गाने से ही हो सकती है तेरी मिट्टी में मिल जावा, गुल बनके मैं खिल जावा, तेरी नदियों में […]

भाग 2……… निरन्तर ,,,,, होनी को अनहोनी करदे अनहोनी को होनी,,,, एक जगह जब जमा हो तीनो, अमर अकबर एंथोनी,,,, फ़िल्म के निर्देशक मनमोहन देसाई ने जब फ़िल्म का टाइटल बताया अमिताभ को तो अमिताभ डर गए और बोले, मन आजकल पारिवारिक फिल्मे चल रही है जैसे बड़ी बहन, छोटी […]

संस्थापक एवं सम्पादक

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’

29 अप्रैल, 1989 को मध्य प्रदेश के सेंधवा में पिता श्री सुरेश जैन व माता श्रीमती शोभा जैन के घर अर्पण का जन्म हुआ। उनकी एक छोटी बहन नेहल हैं। अर्पण जैन मध्यप्रदेश के धार जिले की तहसील कुक्षी में पले-बढ़े। आरंभिक शिक्षा कुक्षी के वर्धमान जैन हाईस्कूल और शा. बा. उ. मा. विद्यालय कुक्षी में हासिल की, तथा इंदौर में जाकर राजीव गाँधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के अंतर्गत एसएटीएम महाविद्यालय से संगणक विज्ञान (कम्प्यूटर साइंस) में बेचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग (बीई-कंप्यूटर साइंस) में स्नातक की पढ़ाई के साथ ही 11 जनवरी, 2010 को ‘सेन्स टेक्नोलॉजीस की शुरुआत की। अर्पण ने फ़ॉरेन ट्रेड में एमबीए किया तथा एम.जे. की पढ़ाई भी की। उसके बाद ‘भारतीय पत्रकारिता और वैश्विक चुनौतियाँ’ विषय पर अपना शोध कार्य करके पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने सॉफ़्टवेयर के व्यापार के साथ ही ख़बर हलचल वेब मीडिया की स्थापना की। वर्ष 2015 में शिखा जैन जी से उनका विवाह हुआ। वे मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं और हिन्दी ग्राम के संस्थापक भी हैं। डॉ. अर्पण जैन ने 11 लाख से अधिक लोगों के हस्ताक्षर हिन्दी में परिवर्तित करवाए, जिसके कारण वर्ल्ड बुक ऑफ़ रिकॉर्डस, लन्दन द्वारा विश्व कीर्तिमान प्रदान किया गया।