जजमेंटल हैं क्या धीरे धीरे फ़िल्म उतर गई दिल मे निर्देशक :- प्रकाश कोवेलामुदी लेखक :- कुनिका ढिल्लन संगीत :- तनिष्क बागची छायांकन :- पंकज कुमार निर्माता :- बालाजी पिक्चर्स कलाकार :- कंगना, राजकुमार, जिमि शेरगिल, अमायना दस्तूर, सतीश कौशिक,नुसरत भरुचा, विक्रांत मेस्सी, ऋषिता भट्ट,हुसैन दलाल, समय :- 1घण्टा 57 […]

सुपर 30 बलिहारी गुरु अपने गोविंद दियो बताय लेखक-निर्देशक विकास बहल पटकथा फरहाद सामजी अदाकार ऋतिक रोशन, मृनाल ठाकुर, पंकज त्रिपाठी, नन्दिश संधू, आदित्य श्रीवास्तव, वीरेंद्र सक्सेना संगीत अतुल अजय, जिलियस पैकीयम फ़िल्म से पहले लघु चर्चा :- दोस्तो स्कूल समय मे गणित एक ऐसा विषय था जिसका नाम आते […]

आर्टिकल 15 वसुदेव कुटुम्बकम पर प्रहार निर्देशक:- अनुभव सिन्हा, लेखक:- गौरव सोलंकी, अनुभव सिन्हा अदाकार:- आयुष्मान खुराना, जीशान अय्यूबी, कुमुन्द मिश्रा,रूनीजीनि चक्रवर्ती, नासेर, मनोज पाहवा संगीत:- अनुराग सेकिया फ़िल्म से पहले जिस देश के आदर्श श्रीराम जी ने शबरी वनवासी के झूठे बैर खाकर यह संदेश दिया हो कि सब […]

फिल्म की वास्तविक कहानी:-शुरुआत से   फिल्म एक सीन के साथ शुरू होती है जहां एक आदमी और औरत बिस्तर पर सो रहे हैं और पीछे से समुद्र की तेज़ लहरों की आवाज़ आ रही है। इन्हीं लहरों की आवाज़ के साथ हम कबीर सिंह की तूफानी ज़िंदगी में एंट्री […]

    उम्र से कोई बड़ा नहीं होता। यदि आपकी सोच बड़ी हो और लक्ष्य लेकर आत्मविश्वास से आप आगे बढोगे तो सफलता की राह में कोई बाधक नहीं बन सकता। ऐसी ही कहानी है बाल अभिनेत्री वान्या सिंह की। केवल 13 वर्ष की वान्या ने जो करिश्मा करा वह […]

स्टूडेंट ऑफ द इयर -2 फार्मूला पुराना लेकिन स्वाद न दे पाया,, समीक्षा इदरीस खत्री द्वारा,, निर्देशक ;- पुनीत मल्होत्रा, अदाकार;- टाइगर श्रॉफ, तारा सुतारिया, अनन्या पांडे, हेमांष कोहली, आदित्या, सना सईद, फ़रीदा जलाल, समीर सोनी संगीत विशाल शेखर, सलीम सुलेमान लेखन अरशद सैयद दोस्तो क्योकि फ़िल्म का नाम की […]

संस्थापक एवं सम्पादक

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’

29 अप्रैल, 1989 को मध्य प्रदेश के सेंधवा में पिता श्री सुरेश जैन व माता श्रीमती शोभा जैन के घर अर्पण का जन्म हुआ। उनकी एक छोटी बहन नेहल हैं। अर्पण जैन मध्यप्रदेश के धार जिले की तहसील कुक्षी में पले-बढ़े। आरंभिक शिक्षा कुक्षी के वर्धमान जैन हाईस्कूल और शा. बा. उ. मा. विद्यालय कुक्षी में हासिल की, तथा इंदौर में जाकर राजीव गाँधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के अंतर्गत एसएटीएम महाविद्यालय से संगणक विज्ञान (कम्प्यूटर साइंस) में बेचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग (बीई-कंप्यूटर साइंस) में स्नातक की पढ़ाई के साथ ही 11 जनवरी, 2010 को ‘सेन्स टेक्नोलॉजीस की शुरुआत की। अर्पण ने फ़ॉरेन ट्रेड में एमबीए किया तथा एम.जे. की पढ़ाई भी की। उसके बाद ‘भारतीय पत्रकारिता और वैश्विक चुनौतियाँ’ विषय पर अपना शोध कार्य करके पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने सॉफ़्टवेयर के व्यापार के साथ ही ख़बर हलचल वेब मीडिया की स्थापना की। वर्ष 2015 में शिखा जैन जी से उनका विवाह हुआ। वे मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं और हिन्दी ग्राम के संस्थापक भी हैं। डॉ. अर्पण जैन ने 11 लाख से अधिक लोगों के हस्ताक्षर हिन्दी में परिवर्तित करवाए, जिसके कारण वर्ल्ड बुक ऑफ़ रिकॉर्डस, लन्दन द्वारा विश्व कीर्तिमान प्रदान किया गया।