केंद्रीय विद्यालय टेंगा वैली में धूमधाम से मनाया गया राष्ट्रीय खेल दिवस

Read Time0Seconds

हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद जयंती के शुभावसर पर भारतवर्ष में राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है। केंद्रीय विद्यालय टेंगा वैली अरुणाचल प्रदेश में भी खेल से संबंधित विविध प्रतियोगिताएं (प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता, चित्रकला प्रतियोगिता, बैडमिंटन प्रतियोगिता, फुटबॉल प्रतियोगिता इत्यादि) आयोजित की गयीं जिनमें नौरीन माहिया, कृष, आर्द्रा, वैष्णवी, जूली, लेहा, पारस, श्रेया जैसे प्रतिभाशाली विद्यार्थियों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया।

सुनील चौरसिया ‘सावन’ की रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रीय खेल दिवस पर विद्यालय में फुटबॉल मैच खेला गया जिसमें अजय कुमार दास की टीम ने 1- 0 गोल से जबरदस्त जीत हासिल की। 15 अगस्त से चल रहे फुटबाल टूर्नामेंट में अभिषेक सिंह (8 गोल), वीरेंद्र कुमार( 7 गोल) और कमल किशोर (6 गोल) के साथ राजकुमार, कौशिक शीट, विवेक गैंगवार, अखिलेश बिन्द, वेंकट रमन , भरत सिंह, अनुराग प्रजापति, सोहन डोगरा, पवन कुमार, प्रवीण, मुकेश, रवि, जसमीत, दूल इत्यादि खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन रहा। प्राचार्य रामकिशोर मीणा ने खिलाड़ियों को सम्मानित कर उनका मनोबल बढ़ाया।

0 0

matruadmin

Next Post

महात्मा गांधी साहित्य सेवा मंच गांधीनगर ने जश्न ए आजादी कवि सम्मेलन में 2 68 कवि ओ को दिनांक 29 अगस्त 2020 को सम्मानित किया

Sun Aug 30 , 2020
Jगाँधी नगर साहित्य सेवा संस्थान की ओर से महात्मा गांधी साहित्य सेवा मंच पर आजादी की पूर्व संध्या पर दिनांक 14 अगस्त 2020 को दो बजे दोपहर मे कार्यक्रम जश्न ए आजादी ऑन लाइन कवि सम्मेलन अध्यक्ष डॉ गुलाब चंद पटेल कवि लेखक अनुवादक और नशा मुक्ति अभियान प्रणेता ब्रेस्ट […]

Founder and CEO

Dr. Arpan Jain

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ इन्दौर (म.प्र.) से खबर हलचल न्यूज के सम्पादक हैं, और पत्रकार होने के साथ-साथ शायर और स्तंभकार भी हैं। श्री जैन ने आंचलिक पत्रकारों पर ‘मेरे आंचलिक पत्रकार’ एवं साझा काव्य संग्रह ‘मातृभाषा एक युगमंच’ आदि पुस्तक भी लिखी है। अविचल ने अपनी कविताओं के माध्यम से समाज में स्त्री की पीड़ा, परिवेश का साहस और व्यवस्थाओं के खिलाफ तंज़ को बखूबी उकेरा है। इन्होंने आलेखों में ज़्यादातर पत्रकारिता का आधार आंचलिक पत्रकारिता को ही ज़्यादा लिखा है। यह मध्यप्रदेश के धार जिले की कुक्षी तहसील में पले-बढ़े और इंदौर को अपना कर्म क्षेत्र बनाया है। बेचलर ऑफ इंजीनियरिंग (कम्प्यूटर साइंस) करने के बाद एमबीए और एम.जे.की डिग्री हासिल की एवं ‘भारतीय पत्रकारिता और वैश्विक चुनौतियों’ पर शोध किया है। कई पत्रकार संगठनों में राष्ट्रीय स्तर की ज़िम्मेदारियों से नवाज़े जा चुके अर्पण जैन ‘अविचल’ भारत के २१ राज्यों में अपनी टीम का संचालन कर रहे हैं। पत्रकारों के लिए बनाया गया भारत का पहला सोशल नेटवर्क और पत्रकारिता का विकीपीडिया (www.IndianReporters.com) भी जैन द्वारा ही संचालित किया जा रहा है।लेखक डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं तथा देश में हिन्दी भाषा के प्रचार हेतु हस्ताक्षर बदलो अभियान, भाषा समन्वय आदि का संचालन कर रहे हैं।