जनता कर्फ्यू बनाम कोरोना

Read Time1Second

जय हो जनता जनार्दन! जय हो हिंदुस्तान !
जनता कर्फ्यू का रखा,सबने पूरा मान।
जय हो जनता जनार्दन! जय हो हिंदुस्तान!

मोदी के आह्वान पर, कोरोना से जंग।
जन जन के सहयोग से,कोरोना भी दंग।।
दृढ़ प्रतिज्ञ हैं लोग सब,कोरोना अब जान।

जय हो जनता जनार्दन! जय हो हिंदुस्तान!!

घंटे अरु घड़ियाल सब,बजा रहे हैं लोग।
शंख नाद से लग रहा,खत्म वायरस रोग।।
जोर जोर से गा रहे, लोग सभी अब गान।

जय हो जनता जनार्दन! जय हो हिंदुस्तान!!

नमन डॉक्टर्स टीम को,नमन सिपहसालार!
हर खतरे को झेलते,मानें कभी न हार।।
नत मस्तक हो आज फिर, ‘नवल’ करे जयगान।

जय हो जनता जनार्दन! जय हो हिंदुस्तान!!

नवल किशोर शर्मा ‘नवल’
बिलारी, मुरादाबाद, (उ प्र)

0 0

matruadmin

Next Post

बलिदान-शहीदी दिवस

Tue Mar 24 , 2020
आज २३ मार्च को हम बलिदान-शहीदी दिवस के रूप में मनाते हैं। इसलिए यह बहुत बड़ा दिन है। इस दिन भगतसिंह, राजगुरु और सुखदेव जब अपनी बैरकों से निकलते हैं तब यह गीत गुनगुनाते हैं। उन तीनों को सन्१९३१ में फांसी दी गई थी। १४ घंटे पहले ही उन्हें फांसी […]

Founder and CEO

Dr. Arpan Jain

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ इन्दौर (म.प्र.) से खबर हलचल न्यूज के सम्पादक हैं, और पत्रकार होने के साथ-साथ शायर और स्तंभकार भी हैं। श्री जैन ने आंचलिक पत्रकारों पर ‘मेरे आंचलिक पत्रकार’ एवं साझा काव्य संग्रह ‘मातृभाषा एक युगमंच’ आदि पुस्तक भी लिखी है। अविचल ने अपनी कविताओं के माध्यम से समाज में स्त्री की पीड़ा, परिवेश का साहस और व्यवस्थाओं के खिलाफ तंज़ को बखूबी उकेरा है। इन्होंने आलेखों में ज़्यादातर पत्रकारिता का आधार आंचलिक पत्रकारिता को ही ज़्यादा लिखा है। यह मध्यप्रदेश के धार जिले की कुक्षी तहसील में पले-बढ़े और इंदौर को अपना कर्म क्षेत्र बनाया है। बेचलर ऑफ इंजीनियरिंग (कम्प्यूटर साइंस) करने के बाद एमबीए और एम.जे.की डिग्री हासिल की एवं ‘भारतीय पत्रकारिता और वैश्विक चुनौतियों’ पर शोध किया है। कई पत्रकार संगठनों में राष्ट्रीय स्तर की ज़िम्मेदारियों से नवाज़े जा चुके अर्पण जैन ‘अविचल’ भारत के २१ राज्यों में अपनी टीम का संचालन कर रहे हैं। पत्रकारों के लिए बनाया गया भारत का पहला सोशल नेटवर्क और पत्रकारिता का विकीपीडिया (www.IndianReporters.com) भी जैन द्वारा ही संचालित किया जा रहा है।लेखक डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं तथा देश में हिन्दी भाषा के प्रचार हेतु हस्ताक्षर बदलो अभियान, भाषा समन्वय आदि का संचालन कर रहे हैं।