Archives for वैश्विक - Page 2

Uncategorized

माँ

किन शब्दों में बयान करूँ मैं माँ को ? मेरे अस्तित्व का आधार,या मेरी श्वांसों में रची-बसी प्राणसुधा। मेरे व्यक्तित्व को रोशन करती लौ, या मेरे वजूद का बुनियादी ढाँचा।…
Continue Reading
Uncategorized

सम्मलेन में लिए डिजिटल हिन्दी पर 10 सूत्री रोडमैप के फैसले

हरियाणा के हिन्दी-हरियाणवी साहित्यकारों एवं लेखकों का महासम्मेलन  साहित्यिक सत्र के साथ हुआ l `नए दौर में हिन्दी: अभिव्यक्ति के विभिन्न आयाम`पर इसमें डिजिटल हिन्दी का 10 सूत्री रोडमैप के रुप…
Continue Reading
Uncategorized

ऊफ… ये मासूम…!!​

10 दिसंबर को विश्व मानवाधिकार दिवस के लिए विशेष ... तारकेश कुमार ओझा रेलवे स्टेशन और बस अड्डा। इन दो स्थानों पर जाने की नौबत आने पर मैं समझ जाता…
Continue Reading
12

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है