तरुणाई युवा कवि सम्मेलन सम्पन्न

Read Time4Seconds

युवाओं की ऊर्जा से संस्कृति समृद्ध है- डॉ. दवे
अपनी जगह किसी दरबार में नहीं है- महेन्द्र पँवार

इंदौर।

‘युवाओं में ऊर्जा का अतुल्य भंडार होता है, आज कवि सम्मेलनों में उस ऊर्जा का प्रवाह नज़र आ रहा है।’ उक्त उद्गार युवा दिवस के उपलक्ष्य में स्थानीय देवपुत्र सभागृह में अतुल्य अकादमी एवं मातृभाषा उन्नयन संस्थान द्वारा आयोजित ‘तरुणाई’ युवा कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि साहित्य अकादमी के निदेशक डॉ. विकास दवे ने कही। 
आयोजन में विशिष्ट अतिथि के रूप में स्टेट प्रेस क्लब, मध्य प्रदेश के अध्यक्ष प्रवीण कुमार खारीवाल, मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ एवं जाने-माने मंचीय कवि अमन अक्षर उपस्थित थे।
दीप प्रज्वलन से आयोजन की शुरुआत हुई। प्रारंभिक संचालन अंशुल व्यास ने किया।मुख्य अतिथि डॉ. विकास दवे ने साहित्य अकादमी के वर्तमान बदलाव और नई परियोजना की जानकारी देते हुए कहा कि ‘अकादमी द्वारा प्रथम पुस्तक प्रकाशन की योजना से सभी को जुड़ना चाहिए, जिसमें रचनाकार की पहली पुस्तक प्रकाशन पर अकादमी आर्थिक सहयोग करती है।’ इसके साथ ही डॉ. दवे ने बताया कि ‘युवा साहित्य केंद्र प्रदेश के स्थापित जिले में स्थापित हो, जिसका मानदेय 500 रु से बढ़ा कर 5000 रु अकादमी द्वारा दिया जा रहा है।’
तरुणाई में विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे स्टेट प्रेस क्लब, मध्य प्रदेश के अध्यक्ष प्रवीण कुमार खारीवाल ने युवाओं को ऐसे आयोजन के माध्यम से प्रतिभा प्रोत्साहन की बधाई देते हुए कहा कि ‘युवाओं की सक्रिय भागीदारी से शहर का नाम भी स्वर्णाक्षर में अंकित हो रहा है, ऐसे आयोजन लगातार होते रहने चाहिएँ।’
कवि सम्मेलन में इंदौर से महेन्द्र पंवार, गौरव साक्षी एवं रोहित शर्मा, रीवा से क्रांति पाण्डेय, छिंदवाड़ा से राकेश राज, ललितपुर से पंकज पंडित, भोपाल से अपूर्वा चतुर्वेदी, खरगोन से कान्ता प्रसाद कमल, बड़वानी से नितेश कुशवाह और देवास से अक्षत व्यास ने काव्य पाठ किया। 
आयोजन में ख्यात कवि अमन अक्षर, मध्यम सक्सेना एवं  शायर सतलज राहत सहित जलज व्यास, बलराम यादव बल्लू, ऋषभ जैन इत्यादि उपस्थित रहे।

0 0

matruadmin

Next Post

कैलिफोर्निया, अमेरिका से प्रो नीलू गुप्ता की अध्यक्षता में अंतरराष्ट्रीय कवि सम्मेलन सम्पन्न

Mon Jan 18 , 2021
विश्व हिंदी सचिवालय, मॉरीशस न्यू मीडिया सृजन संसार ग्लोबल फाउंडेशन एवं सृजन ऑस्ट्रेलिया अंतरराष्ट्रीय ई- पत्रिका के संयुक्त तत्वावधान में एक अंतरराष्ट्रीय कवि सम्मेलन का आयोजन 17 जनवरी 2021 को सफलता पूर्वक संपन्न हुआ। कैलिफोर्निया, अमेरिका से प्रो नीलू गुप्ता जी के अध्यक्षता में आयोजित हुए इस कवि सम्मेलन में […]

Founder and CEO

Dr. Arpan Jain

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ इन्दौर (म.प्र.) से खबर हलचल न्यूज के सम्पादक हैं, और पत्रकार होने के साथ-साथ शायर और स्तंभकार भी हैं। श्री जैन ने आंचलिक पत्रकारों पर ‘मेरे आंचलिक पत्रकार’ एवं साझा काव्य संग्रह ‘मातृभाषा एक युगमंच’ आदि पुस्तक भी लिखी है। अविचल ने अपनी कविताओं के माध्यम से समाज में स्त्री की पीड़ा, परिवेश का साहस और व्यवस्थाओं के खिलाफ तंज़ को बखूबी उकेरा है। इन्होंने आलेखों में ज़्यादातर पत्रकारिता का आधार आंचलिक पत्रकारिता को ही ज़्यादा लिखा है। यह मध्यप्रदेश के धार जिले की कुक्षी तहसील में पले-बढ़े और इंदौर को अपना कर्म क्षेत्र बनाया है। बेचलर ऑफ इंजीनियरिंग (कम्प्यूटर साइंस) करने के बाद एमबीए और एम.जे.की डिग्री हासिल की एवं ‘भारतीय पत्रकारिता और वैश्विक चुनौतियों’ पर शोध किया है। कई पत्रकार संगठनों में राष्ट्रीय स्तर की ज़िम्मेदारियों से नवाज़े जा चुके अर्पण जैन ‘अविचल’ भारत के २१ राज्यों में अपनी टीम का संचालन कर रहे हैं। पत्रकारों के लिए बनाया गया भारत का पहला सोशल नेटवर्क और पत्रकारिता का विकीपीडिया (www.IndianReporters.com) भी जैन द्वारा ही संचालित किया जा रहा है।लेखक डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं तथा देश में हिन्दी भाषा के प्रचार हेतु हस्ताक्षर बदलो अभियान, भाषा समन्वय आदि का संचालन कर रहे हैं।