युवाओ को संदेश

Read Time0Seconds

युवाओं तुम्हें जगना होगा
विवेकानंद के सपनों
के पथ पर चलना होगा।

चारों ओर शोर फैला
सडको पर सैलाव उमडा
कौन सच्चा कौन झूठा
सवालो ने घेरा डाला
सब को विश्वास में लाना होगा
युवाओं तुम्हें जगाना होगा।

कर्तव्य और कार्यशैली
ढूँढ रही ईमानदारी
हर नजर तालाश रही
वो विश्वास और साथ
जो वादा किया गया
हर मंच और सभाओ में
वक्त के साथ हर वादा
समय पर निभाना होगा
युवाओं तुम्हें जगाना होगा

न बहकूँगे न बहकने दूँगा
के पथ पर चलना होगा
छिपे गद्दारो को जहन मे
राष्ट्रवाद जगाना होगा
उन्नति के लिए सबको साथ लाना होगा
युवाओं तुम्हें जगना होगा।

कोई बडा नही है कर्तव्यो से
मिलकर काम करो और नेक काम करो
ऊँचे-नीचे का भेद मिटाना होगा
युवाओं तुम्हें जगना होगा।

“आशुतोष”

नाम।                   –  आशुतोष कुमार
साहित्यक उपनाम –  आशुतोष
जन्मतिथि             –  30/101973
वर्तमान पता          – 113/77बी  
                              शास्त्रीनगर 
                              पटना  23 बिहार                  
कार्यक्षेत्र               –  जाॅब
शिक्षा                   –  ऑनर्स अर्थशास्त्र
मोबाइलव्हाट्स एप – 9852842667
प्रकाशन                 – नगण्य
सम्मान।                – नगण्य
अन्य उलब्धि          – कभ्प्यूटर आपरेटर
                                टीवी टेक्नीशियन
लेखन का उद्द्श्य   – सामाजिक जागृति         
                            
0 0

matruadmin

Next Post

युवा दिवस

Sun Jan 12 , 2020
वो आवाज था हर युवा का जन चेतना का संचार किया। राष्ट्र वाद का बोध कराकर विचार क्रांति का सूत्रपात किया। विश्व बंधुत्व का संदेश देकर नव युग का निर्माण किया। धर्म सभा में हिंदुस्तान का आलोकित शंखनाद किया। है धन्य धरा भारत भूमि नरेंद्र को जिसने जन्म दिया, वह […]

Founder and CEO

Dr. Arpan Jain

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ इन्दौर (म.प्र.) से खबर हलचल न्यूज के सम्पादक हैं, और पत्रकार होने के साथ-साथ शायर और स्तंभकार भी हैं। श्री जैन ने आंचलिक पत्रकारों पर ‘मेरे आंचलिक पत्रकार’ एवं साझा काव्य संग्रह ‘मातृभाषा एक युगमंच’ आदि पुस्तक भी लिखी है। अविचल ने अपनी कविताओं के माध्यम से समाज में स्त्री की पीड़ा, परिवेश का साहस और व्यवस्थाओं के खिलाफ तंज़ को बखूबी उकेरा है। इन्होंने आलेखों में ज़्यादातर पत्रकारिता का आधार आंचलिक पत्रकारिता को ही ज़्यादा लिखा है। यह मध्यप्रदेश के धार जिले की कुक्षी तहसील में पले-बढ़े और इंदौर को अपना कर्म क्षेत्र बनाया है। बेचलर ऑफ इंजीनियरिंग (कम्प्यूटर साइंस) करने के बाद एमबीए और एम.जे.की डिग्री हासिल की एवं ‘भारतीय पत्रकारिता और वैश्विक चुनौतियों’ पर शोध किया है। कई पत्रकार संगठनों में राष्ट्रीय स्तर की ज़िम्मेदारियों से नवाज़े जा चुके अर्पण जैन ‘अविचल’ भारत के २१ राज्यों में अपनी टीम का संचालन कर रहे हैं। पत्रकारों के लिए बनाया गया भारत का पहला सोशल नेटवर्क और पत्रकारिता का विकीपीडिया (www.IndianReporters.com) भी जैन द्वारा ही संचालित किया जा रहा है।लेखक डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं तथा देश में हिन्दी भाषा के प्रचार हेतु हस्ताक्षर बदलो अभियान, भाषा समन्वय आदि का संचालन कर रहे हैं।