Tag archives for #dr ved pratap vaidik column

Uncategorized

धन बरसाने आई लक्ष्मी

धन बरसाने आई लक्ष्मी ,घर - घर खुशियाँ छाई। कर दरिद्र कोसों दूर, भण्डार भरने खुद माँ आई।। भावों के दीप सजाकर, देखो कैसी रोशनी आई। अमावस के घोर तिमिर…
Continue Reading
Uncategorized

 छकड्यो राँका रो

आ तो सगला ने हरसावें। इण री शान कदै ना जावें। इरो जस हिलमिलकर गावें। छकड्यो राँका रो। झण्डाें बाघसूरी में लहरावें। बाला साहब री याद दिलावें। नारेल दीपक ज्योत…
Continue Reading
Uncategorized

*मुक्तक*

1. किस्मत के भरोसे ना बैठ     सफलता तेरी राह देख रही है     आज हुनर तो दिखलादे     उन्नति तेरी कला देख रही है। 2. आज…
Continue Reading
Uncategorized

अटलजी को यह कैसी श्रद्धांजलि ?

-डॉ. वेदप्रताप वैदिक पिछले तीन दिनों में तीन ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिन पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भाजपा के नेताओं को गंभीरता से विचार करना चाहिए। ये तीनों घटनाएं…
Continue Reading
Uncategorized

अभी रात शेष है

पुन: स्मरण करें आज कैसे देश श्मशान हुआ था पंख काटकर सोन-चिरैया के स्वतंत्रता का गान हुआ था बलिदानी शव बने थे सीढ़ी लगाम थामना आसान हुआ था सूरज उगते…
Continue Reading
Uncategorized

असमः विरोधियों की नौटंकी

कांग्रेस पार्टी देश की सबसे बड़ी विरोधी पार्टी है लेकिन उसके नेता कितने भौंदू सिद्ध हो रहे हैं ? उनके भौंदूपन ने सारी विरोधी पार्टियों की हवा निकाल दी है।…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है