rupesh kumar

आरक्षण को हटाना है ,

देश को मुक्त कराना हैं ,
भारत को सोने की चिड़िया बनाना है ,
आरक्षण से मुक्त कराना है !
आरक्षण से विनाश होता है ,
देश का सर्वनाश होता है ,
एक है राष्ट्र एक है जाति ,
एक मुल्क एक संविधान ,
हिंदू मुस्लिम सिख इसाई ,
एक जाती है भाई भाई ,
एक देश है एक ही राष्ट्र ,
एक जाति हैं एक ही जात ,
आरक्षण से मुक्त कराना है ,
देश को बचाना है !
एससी एसटी ओबीसी ,
को दूर कराना है ,
आरक्षण को मिटाना ,
सबको मिले समान अधिकार ,
सबको मिले समान रोजगार ,
एक ही राष्ट्र एक ही जाति ,
एक देश एक ही ही अधिकार ,
आरक्षण मुक्त बनाना है ,
भारत को बचाना है !
             #रुपेश कुमार

परिचय : चैनपुर ज़िला सीवान (बिहार) निवासी रुपेश कुमार भौतिकी में स्नाकोतर हैं। आप डिप्लोमा सहित एडीसीए में प्रतियोगी छात्र एव युवा लेखक के तौर पर सक्रिय हैं। १९९१ में जन्मे रुपेश कुमार पढ़ाई के साथ सहित्य और विज्ञान सम्बन्धी पत्र-पत्रिकाओं में लेखन करते हैं। कुछ संस्थाओं द्वारा आपको सम्मानित भी किया गया है।

About the author

(Visited 1 times, 1 visits today)
Please follow and like us:
0
Custom Text