Author Archives: matruadmin - Page 3

Uncategorized

कभी फरहाद कभी …..

कभी फरहाद कभी मजनूं कभी रांझा बना डाला तुम्हारे इश्क ने जानां मुझे क्या-क्या बना डाला ============================== पिला कर खून अपना पाला जिसको उम्र भर मैंने उस दिल को एक…
Continue Reading
Uncategorized

यह तो सिर्फ नाम बदलने का अभियान है……..

भोपाल से फरीदाबाद की यात्रा के दरमियान भारत बने भारत अभियान पर चर्चा के दौरान किसी सहयात्री ने कहा "यह तो सिर्फ नाम बदलने का अभियान है। सिर्फ नाम बदलने…
Continue Reading
Uncategorized

सच्चाई का हलुवा

वह दुनिया का सबसे बड़ा बावर्ची था, ऐसा कोई पकवान नहीं था, जो उसने न बनाया हो। आज भी पूरी दुनिया को सच के असली मीठे स्वाद का अनुभव हो,…
Continue Reading
Uncategorized

गाय बिना गोदान

गोदान के संदर्भ में दो मुख्यत: बातें सामने आती हैं। एक 1936 में प्रकाशित मुंशी प्रेमचंद का जग जाहिर उपन्यास गोदान और दूसरा मत्यु के उपरान्त वैतरणी पार करने के…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है