Archives for राष्ट्रीय - Page 13

Uncategorized

स्तरहीन कवि सम्मेलनों से हो रहा हिन्दी की गरिमा पर आघात

कवि सम्मेलनों का समृद्धशाली इतिहास लगभग सन १९२० माना जाता हैं । वो भी जन सामान्य को काव्य गरिमा के आलोक से जोड़ कर देशप्रेम प्रस्तावित करना| चूँकि उस दौर…
Continue Reading
Uncategorized

कर्मों का हिसाब देना पड़ता है 

कोई भी यूँ हो चाहे कलयुग या सतयुग , इन युगो में भी जिन्होंने जन्म लिया उन्हें अपने कर्मो का हिसाब क़िताब यही पर देना पड़ता है / इसमें चाहे…
Continue Reading
Uncategorized

पश्चिमी बंगाल, शेरनी के पंजे में लोकतंत्र

जुझारु राजनीति, संघर्षशील व सादे जीवन के चलते पश्चिमी बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी को 'बंगाल की शेरनी' के नाम से भी जाना जाता है। बौद्धिक व सांस्कृतिक दृष्टि से…
Continue Reading
Uncategorized

” मेरी कलम रो रही है ” – एक व्यग्र हृदय का दर्द 

कविता के संबंध में मेरी मान्यता है कि कुछ लोग कविता लिखते हैं, कुछ लोग कविता पढते हैं और कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कविता को जीने की वस्तु…
Continue Reading
Uncategorized

रेलमपेल रेल से मेलजोल

भारतीय रेल हमारे आवागमन का आधार स्तंभ है। इसके बिना जीवन की परिक्रमा अधूरी रहती क्योंकि इस धूरी से उस धूरी की दूरी तय करने में लौहपथगामिनी का कोई शानी…
Continue Reading
Uncategorized

नेपाल में मार्क्स, लेनिन, माओ एक हो गए

नेपाल में राजशाही के बावजूद कम्युनिस्ट पार्टियां लंबे समय से सक्रिय हैं लेकिन उनमें कभी एकता नहीं रही। इस बार नेपाल की दो बड़ी कम्युनिस्ट पार्टियां न सिर्फ एक हो…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है