Author Archives: matruadmin - Page 2

Uncategorized

बारिश

शाम के पांच बजने वाले थे । बारिश का मौसम होने के बाद भी आसमान पूरे दिन से साफ था । राधा ऑफिस से निकलने ही वाली थी कि देखते…
Continue Reading
Uncategorized

आँसू 

दिल की दीवारें जब दरकी रिस रिस जल की बूँदे सरकी। पीड़ा के बदरा मंडराये अश्रु नयन ये रोक न पाये। आँसू आखों का मौन तोड़ यह गिरा नयनो की…
Continue Reading
Uncategorized

बारिश*

*जैसे ही आसमान में घनघोर घटा छायी, बिजली कड़क ने लगी, बादल भी अपने बरसने के पूरे मूड़ में आ गया और श्वेत से श्याम रंग धारण किया वैसे ही…
Continue Reading
Uncategorized

“दहेज”

दहेज मांगकर हम ये कर रहे हैं, ना खुद जी रहे!ना मर ही रहे हैं, सभी जानते!अभिशाप है ये, जो माफ न हो!वो पाप है ये, इस आग में बहुत…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है