फिरोजाबाद । टी.टी.एफ. सिनेमा (फिल्म प्रोडक्शन) के सौजन्य से छारबाग- फिरोजाबाद में कॉमेडी टेलीफिल्म – “ बहू की चोरी ” का फिल्मांकन किया गया । टीटीएफ सिनेमा जनपद फिरोजाबाद का सबसे पुराना क्षेत्रीय फिल्म प्रोडक्शन है । पहले इन्हें त्रिदेव टेलीफिल्मस के नाम से जाना जाता था । और इनके […]

भारत की एकमात्र निःशुल्क, निःस्वार्थ संस्था “ज्ञानोत्कर्ष अकादमी,बिहार, भारत” के द्वारा साल 2021 के लिए विभिन्न क्षेत्रों मे विख्यात भारत के 15 साहित्यिक रत्नों को सम्मानित किया! जिसमें कुल 28 साहित्यकारो द्वारा विभिन्न क्षेत्रों मे लिखित पुस्तक भेज नामांकन दाखिल कराया! जिसमे संस्था की कार्यकारणी समिति के द्वारा सभी विषयों […]

*डॉ कुँवर बेचैन संवेदनाओं के कवि- उषा ठाकुर*इंदौर। प्रेम और सौहार्द के कवि के रूप में हिन्दी कवि सम्मेलनों के स्वर्णाक्षर रहे डॉ कुँवर बैचैन की स्मृतियों को चिर स्थायी बनाने के उद्देश्य से मातृभाषा उन्नयन संस्थान के माध्यम से मध्यप्रदेश की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने डॉ कुँवर बेचैन […]

देव भाषा संस्कृत को बढ़ावा देना रचनाकारों का प्रमुख दायित्व है-डॉ. राजेश पुरोहित भवानीमंडी: देश के सुप्रसिद्ध कवि एवम साहित्यकार डॉ. राजेश कुमार शर्मा पुरोहित को यूथ वर्ल्ड न्यूज एंड सोशल मंच बीकानेर द्वारा रविवार को वर्चुअल कार्यक्रम के दौरान एक्सीलेंसी अवार्ड 2021 से सम्मानित किया। पुरोहित को यह सम्मान […]

इन्दौर ।  कोरोना की आपदा के बाद लोगों की सुरक्षा के लिए मातृभाषा उन्नयन संस्थान के सेवा सर्वोपरि प्रकल्प द्वारा स्थानीय ऑटो रिक्शा चालकों को कोरोना सुरक्षा कवच किट वितरीत किए गए।मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ ने बताया कि ‘संस्थान द्वारा विगत एक माह से […]

भारत की एकमात्र, हर क्षेत्र की पहचान ज्ञानोत्कर्ष अकडमी का उद्घाटन हुआ साथ ही पिता दिवस पर विराट महाकविसम्मेलन का आयोजन किया गया था ! इस संस्था के संस्थापक सह राष्ट्रीय अध्यक्ष रुपेश कुमार जी ने संस्था के उद्देश्यों के बारे मे पूर्ण जानकारी दिया! उन्होनें बताया की हमारी संस्था […]

संस्थापक एवं सम्पादक

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’

29 अप्रैल, 1989 को मध्य प्रदेश के सेंधवा में पिता श्री सुरेश जैन व माता श्रीमती शोभा जैन के घर अर्पण का जन्म हुआ। उनकी एक छोटी बहन नेहल हैं। अर्पण जैन मध्यप्रदेश के धार जिले की तहसील कुक्षी में पले-बढ़े। आरंभिक शिक्षा कुक्षी के वर्धमान जैन हाईस्कूल और शा. बा. उ. मा. विद्यालय कुक्षी में हासिल की, तथा इंदौर में जाकर राजीव गाँधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के अंतर्गत एसएटीएम महाविद्यालय से संगणक विज्ञान (कम्प्यूटर साइंस) में बेचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग (बीई-कंप्यूटर साइंस) में स्नातक की पढ़ाई के साथ ही 11 जनवरी, 2010 को ‘सेन्स टेक्नोलॉजीस की शुरुआत की। अर्पण ने फ़ॉरेन ट्रेड में एमबीए किया तथा एम.जे. की पढ़ाई भी की। उसके बाद ‘भारतीय पत्रकारिता और वैश्विक चुनौतियाँ’ विषय पर अपना शोध कार्य करके पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने सॉफ़्टवेयर के व्यापार के साथ ही ख़बर हलचल वेब मीडिया की स्थापना की। वर्ष 2015 में शिखा जैन जी से उनका विवाह हुआ। वे मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं और हिन्दी ग्राम के संस्थापक भी हैं। डॉ. अर्पण जैन ने 11 लाख से अधिक लोगों के हस्ताक्षर हिन्दी में परिवर्तित करवाए, जिसके कारण वर्ल्ड बुक ऑफ़ रिकॉर्डस, लन्दन द्वारा विश्व कीर्तिमान प्रदान किया गया।