Tag archives for bhasha anusuchi

Uncategorized

शत शत नमन

शत शत नमन है उस, मेरे देश के वीर सपूत को, सारा देश रो रहा है उस, देश के अटल पूत को। राजनीतिज्ञ कहूं या दार्शनिक, या कह दूं उसे…
Continue Reading
Uncategorized

डिब्बा  बेस्वाद #दवाई का

ना चाहते हुए भी वसु की आँखे नम थी।आँसुओं से आँखे भरी हुई पर वह ठान बैठी थी की आज वह उस अनमोल अश्क को गालों पर लुढ़कने ही नही…
Continue Reading
Uncategorized

तुम सभी चले आना…

मय्यत में मेरी तुम सभी चले आना, भूले से भी न तुम आँसू बहाना। उठाकर जनाजा कंधों पर अपने, मुझे शमशान तक सभी छोड़ आना॥ होंगे उस वक़्त वो नींद…
Continue Reading
Uncategorized

कौन किसकी प्रियतमा …

इस जगत में कौन किसकी प्रियतमा है, कौन प्रीतम। प्रीति द्युति चमको जहां पल, वहीं फूटा चिर विरहतम। देख जिसकी ओर बस, प्रीत वह ही मुस्कराता मौन होकर बात मन…
Continue Reading
12

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है