Archives for मातृभाषा - Page 12

Uncategorized

छोटे संकल्प,बड़ी खुशियां

 लो स्वागत कीजिए २०१८ का नई उमंग नव उल्लास के साथ लें नव संकल्प। घर में यदि आप अपने बच्चों को पर्याप्त समय नहीं दे रहे हों तो नए साल…
Continue Reading
Uncategorized

साहित्य प्रकाशन बनाम सोशल मीडिया का प्रभाव

एक दौर था,जब साहित्य प्रकाशन के लिए रचनाकार प्रकाशकों के दर पर अपने सृजन के साथ जाते थे या फिर प्रकाशक प्रतिभाओं को ढूँढने के लिए हिन्दुस्तान की सड़कें नापते…
Continue Reading
Uncategorized

धर्म एक दृष्टि

मेरी राय में धर्म एक जीवन दृष्टि है। सभी प्राणियों से श्रेष्ठतर संवेदनशील मानव की। अपने सर्वोत्तम की खोज उसे पाने का प्रयत्न एवं आत्म साक्षात्कार के रूप में उस परम शक्ति की…
Continue Reading
Uncategorized

स्वास्थ्य के प्रति कितने जिम्मेदार हम

मानव जीवन की सबसे बड़ी और अनदेखी पूंजी यदि कोई है तो वह है-हमारा स्वास्थ्यl अनदेखी इसलिए कहा,क्योंकि हम जब तक हम  बिस्तर न पकड़ लें या किसी रोग से…
Continue Reading
Uncategorized

सामुदायिक विकास की सोच ही राष्ट्रवाद 

क्या राष्ट्रवाद की अधिकता साम्राज्यवाद, फांसीवाद में परिणित हो जाती है ? जी हाँ,राष्ट्रवाद की अधिकता का परिणाम भी साम्राज्यवाद,फांसीवाद में देखा जा सकता है। जब कोई राष्ट्र,राष्ट्र निवासी अपनी…
Continue Reading
Uncategorized

हिंदी का गिरता बौद्धिक स्तर

हिंदी को प्रचलित तौर पर माथे की बिंदी कहा जाता है। जिस तरह सही बिंदी लगाने मात्र से नारी का व्यक्तित्व प्रभावशाली हो जाता है,ठीक उसी तरह हिंदी भाषा के…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है