sarita narayan
१ >    दस साल का बच्चा होस्टल में ,,,घर से नेपाली नौकर उसे घर ले जाने को आया ,,,,,,,,बोला –बाबा घर चलो आपका पापा ख़त्म हो गया ,,,,,,,,उसने कहा मैं जा कर क्या करूँगा ???अरे बाबा उसको खतम करना है ।।।।।।
अब उसकी समझ में ये बात नहीं आ रही है कि जो चीज़ खतम हो गया,,,,उसे फिर से क्यों खतम करना है ???

२.>    अब हमारे बीच अब कुछ न रहा ,सब खतम हो गया ,,,,,कोर्ट में मिलते है ,,,,,,पर क्यूँ ??अरे बाबा सब खतम करने के
लिए ,,,,,,,वो अपनी बड़ी बड़ी आँखों से उसे देखती रह गयी ,,,और उसकी समझ में नहीं आया ,,,,जो खतम हो गयी उसे
फिर से क्यूँ खतम करना है ????

#डा सरिता नारायण 

About the author

(Visited 1 times, 1 visits today)
Please follow and like us:
0
Custom Text