Archives for व्यंग्य

Uncategorized

सय्या झूठों का बड़ा सरताज निकला !

लोग कहते हैं कि मौन रहने से बेहतर है कि आप मुखर रहकर अपनी बात कहें।यानी बोलना जरूरी है वरना यदि मौनी बाबा बनकर रह गए तो आपकी कहीं दाल…
Continue Reading
Uncategorized

सरकस

ब्रह्म लोक में हनुमान जी बहुत नाराज चले आ रहे थे ।  आते ही राम जी के चरणो में सिर नवा कर बोले- प्रभु जी मैं तो सिर्फ आप का…
Continue Reading
Uncategorized

अनटोल्ड ट्रैजेटी आफ स्ट्रीट डॉग्स …!!

हे देश के नीति - नियंताओं  । जिम्मेदार पदों पर आसीन नेताओं व अफसरों ... आप सचमुच महान हो। जनसेवा में आप रात - दिन व्यस्त रहते हैं। इतना ज्यादा…
Continue Reading
Uncategorized

दीवाली में नया फैशन को गिफ्ट

“सुण स्याणा! मंगलवार की धनतेरस है अर बिस्पतवार की दीवाली है. दुनिया ज्वेलरी खरीद रही है. उच्छब के औसर पर सब आप आपकी गृहलक्ष्मी नै हीरा को, प्लेटिनम को, सोना…
Continue Reading
Uncategorized

अल्लाह बचाए रु मी टू से  

खुदा के फजल से अच्छी-खासी गृहस्थी चल रही थी, पर जब से यह मी टू का वायरस शुरु हुआ है तब से दिल में तूफान मचा पड़ा है। मुझे अपने…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है