Archives for चर्चा

Uncategorized

राजनीति को राजनीति की भाषा में भाषा का पाठ पढ़ाने का उचित समय

किसे याद न होगा आज से लगभग पांच वर्ष पूर्व उस समय  भाजपा अध्यक्ष और वर्तमान में केन्द्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘एक समय भारत को सोने की…
Continue Reading
Uncategorized

जीवन को खुशहाल बना सकता है 60-60-30 का नियम

पानी को बांधा तो सरोवर बन गया, मोतीयों को बाँधा तो गले का हार बिना व्रतों का जीवन अंगार बन गया व्रतों से बंधा जीवन अलंकार* आम जन जीवन और…
Continue Reading
Uncategorized

लेखनी क्यों कठघरे में

      "लेखनी क्यों कठघरे में " इस बात को ऐसे ही स्पष्ट नहीं किया सकता है । इसके कई ऋणात्मक और धनात्मक कारण हैं।     रचनाकार हमेशा…
Continue Reading
Uncategorized

बॉयोपिक या सत्य घटना पर फिल्मो का बढ़ता चलन

दोस्तो भारतीय फिल्मों को नया विषय मिल गया है ऐसी फिल्में न केवल आम लोगो तक उन लोगो की ज़िन्दगी की जद्दोजहद दिखा कर, उनके लगन और मेहनत से जनता…
Continue Reading
Uncategorized

‘जन आशीर्वाद’ और ‘पोल खोल’ के जरिए राजपथ की तलाश

महाकाल की नगरी उज्जैन में पूजा-अर्चना कर भगवान के आशीर्वाद के साथ “नया मध्यप्रदेश नयी रफ्तार, शिवराज सिंह अबकी बार’ का लक्ष्य सामने रखकर जन आशीर्वाद यात्रा को भाजपा के…
Continue Reading
Uncategorized

पशुओं की जिंदगी जी रहे चाय मजदूर

असम के चाय बागान में मजदूरों के साथ जो अत्याचार हो रहा है, उसे कौन बंद करवाएगा ? जब पहली बार मैं असम के चाय बागान में गया और मजदूरों…
Continue Reading

मातृभाषा को पसंद कर शेयर कर सकते है