गीतशाला विभाग में रंगारंग गीतोत्सव सम्पन्न

Read Time0Seconds

FB_IMG_15550429592417463

साहित्य संगम संस्थान के गीतशाला विभाग में नवरात्री के शुभअवसर पर दिनांक १०.४.२०१९ की शाम ७बजे से गीतोत्सव का आयोजन किया गया ,गीतशाला की प्रमुख आदरणीया सरोज सिंह ठाकुर जी नें इस प्रथम रंगारंग गीतोत्सव का आयोजन करवाया ,जिसमें कई प्रतिभागियों नें अपनीं अनूठी प्रस्तुतियों से श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया ,आयोजन गीतशाला के ह्वाट्स अप पटल पर रखा गया ,जिसमें विभिन्न प्रांतों के कवियों व साहित्यकारों नें भाग लिया,कार्यक्रम की शुरूवात संस्थान के अध्यक्ष श्री राजवीर मंत्र जी नें अपनीं गरिमामयी ,ओजस्वी वाणी से मनमोहित श्रोताओं को भावविभोर कर दिया ,कार्यक्रम में अनिता मंदलवारमनोजकुमार सांवरिया मनु,छगन लाल गर्ग जी,इंदू शर्मा शुचि,संस्थान की विधि सलाहकार सेवा निवृतन्यायाधीश श्रीमती मीना भट्ट जी,प्रेमलता जी (आगरा ), कुमुद श्रीवास्तव वर्मा “कुमुदनी ” लखनऊ से ,,रवि रश्मी अनुभूति जी ,डा० स्वाति सिंह ,संस्थान की प्रबंधिका आ०छाया  सक्सेना प्रभु,, आ० गीता गुप्ता ,इति शिवहरे ,,कल्पनाजी ,म.प्र. से शिव कुमार लिल्हारे ,सरिता श्रीवास्तव, आ० पुरूषोत्तम प्रजापति,रिखब चंद रॉका ,आ० प्रेमलता,राजीव डोंगरा जी ,भावना दीक्षित जी ,,हरीश विष्ट जी ,आ० एस.के कपूर हंस जी ,आ० सुनील कुमार अवधिया मुक्तानिल ,व नवीन कुमार भट्ट नीर जी नें अपनीं दमदार प्रस्तुति देकर कार्यक्रम में चारचांद लगा दिये |
कार्यक्रम की शुरूवात व दीपाली पांडे दीया नें सरस्वती वंदना से आरम्भ किया ,
मुख्य अतिथि आ० चंद्रपाल जी नें कार्यक्रम को संम्बोधित किया ,विशिष्ट अतिथि आदरणीय राजवीर मंत्र जी रहे ,कार्यक्रम की अध्यक्षता आदरणीया मीना भट्ट जी  नें की विशेष विशिष्ट अतिथि आदरणीय शिरोमणी डा० अरूण कुमार श्रीवास्तव जी नें कार्यक्रम की सराहना कर प्रतिभागियों का मनोबल बढ़ाया ,कार्यक्रम का संचालन संस्थान की अलंकरण अध्यक्षा” दीपाली पांडे दीया ” व अलंकरण सह संरक्षिका कुमुद श्रीवास्तव वर्मा “कुमुदनी ” ने किया |

0 0

matruadmin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

गजल-आओ चलो मतदान करें

Fri Apr 12 , 2019
प्रेम को आगे रखके हम खुद का सम्मान करें लोकतंत्र के महापर्व में आओ चलो मतदान करें गली मोहल्ले गाँव शहर में घूम घूम कर हम भाई बूढ़े और जवानों का हम सब मिलकर आह्वान करें जाति धर्म भाषा प्रांत से कुछ पल मन को दूर रखें सही बटन पर […]

Founder and CEO

Dr. Arpan Jain

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ इन्दौर (म.प्र.) से खबर हलचल न्यूज के सम्पादक हैं, और पत्रकार होने के साथ-साथ शायर और स्तंभकार भी हैं। श्री जैन ने आंचलिक पत्रकारों पर ‘मेरे आंचलिक पत्रकार’ एवं साझा काव्य संग्रह ‘मातृभाषा एक युगमंच’ आदि पुस्तक भी लिखी है। अविचल ने अपनी कविताओं के माध्यम से समाज में स्त्री की पीड़ा, परिवेश का साहस और व्यवस्थाओं के खिलाफ तंज़ को बखूबी उकेरा है। इन्होंने आलेखों में ज़्यादातर पत्रकारिता का आधार आंचलिक पत्रकारिता को ही ज़्यादा लिखा है। यह मध्यप्रदेश के धार जिले की कुक्षी तहसील में पले-बढ़े और इंदौर को अपना कर्म क्षेत्र बनाया है। बेचलर ऑफ इंजीनियरिंग (कम्प्यूटर साइंस) करने के बाद एमबीए और एम.जे.की डिग्री हासिल की एवं ‘भारतीय पत्रकारिता और वैश्विक चुनौतियों’ पर शोध किया है। कई पत्रकार संगठनों में राष्ट्रीय स्तर की ज़िम्मेदारियों से नवाज़े जा चुके अर्पण जैन ‘अविचल’ भारत के २१ राज्यों में अपनी टीम का संचालन कर रहे हैं। पत्रकारों के लिए बनाया गया भारत का पहला सोशल नेटवर्क और पत्रकारिता का विकीपीडिया (www.IndianReporters.com) भी जैन द्वारा ही संचालित किया जा रहा है।लेखक डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं तथा देश में हिन्दी भाषा के प्रचार हेतु हस्ताक्षर बदलो अभियान, भाषा समन्वय आदि का संचालन कर रहे हैं।